क्रोधात्भवति सम्मोहः...

विकिसूक्तिः तः
Jump to navigation Jump to search


क्रोधात्भवति सम्मोहः सम्मोहात् स्मृतिविभ्रमः ।
स्मितिभ्रंशात् बुध्दिनाशः बुध्दिनाशात् प्रणश्यति ॥

[ क्रोध से सम्मोह होता है, सम्मोह से स्मृति भ्रम।

स्मृति भ्रम से बुद्धि का नाश होता है और बुद्धि के नाश

हो जाने से ( मनुष्य अपने ) प्राणो का नाश कर लेता है